गुरुवार, 30 नवंबर 2023

ज्योति और सांता की एंटोल्ड सेक्स स्टोरी | ज्योति और सांता की लेस्बियन सेक्स कहानी

 ज्योति और सांता की एंटोल्ड सेक्स स्टोरी

मेरी कामुकता भरी ज्योति मेरा लंड लेने के बाद किसी लड़की से अपनी चूत चटवाना चाहती थी, और लेस्बियन सेक्स का मजा लेना चाहती थी। चूत चाट कर देखना चाहती थी।



दोस्तो, मेरा नाम सौम्य है। सेक्स कहानी पर मैंने काफी सारी सेक्स स्टोरी पढ़ी हैं। मुझे इस साइट पर हिन्दी सेक्स स्टोरी पढ़ना बहुत अच्छा लगता है। आज मैं भी आप लोगों को एक कहानी बताना चाहता हूं। लेकिन यह कहानी मेरी नहीं है, मेरे एक दोस्त की है।

इस कहानी में तीन किरदार मुख्य हैं जिनमें मेरे दोस्त की gf और ज्योति की नौकरानी है। आपको कहानी के किरदारों को समझने में आसानी हो जाये इसलिए मैं आपको उनके नाम भी बता रहा हूं। मगर ये नाम वास्तविक नहीं हैं। मैंने गोपनीयता के लिहाज से नाम बदल दिये हैं।

जिस दोस्त की ये कहानी है उसका नाम प्रवीण है। उसकी ज्योति का नाम ज्योति है और ज्योति की नौकरानी का नाम है सांता यह कहानी बंगाल से संबंधित है। कहानी को अब मेरे दोस्त की जुबानी ही सुनिये।

दोस्तो, मेरा नाम प्रवीण है। अपनी ज्योति की ठुकाई मैं कई बार कर चुका था। उसका जिस्म वैसे तो एवरेज है जिसका माप 32-28-32 है। मगर मेरी ज्योति की चूत बहुत प्यासी रहती है। उसे मैंने हर तरह के पोज में चोदा हुआ है।

अब उसको कुछ नया ट्राई करना था। वो अपनी चूत की प्यास एक लड़की से बुझवाना चाह रही थी। यह बात उसने मुझे बाद में बताई थी। उसने अपनी यह तमन्ना अपनी नौकरानी सांता के जरिये पूरी करने की सोची।

19 साल की सांता अभी-अभी जवान हुई थी और कमसिन कच्ची कली थी। ज्योति अपनी चूत को सांता के होंठों से चटवाने की फिराक में थी। वो सांता को कई बार टच करने की कोशिश करती थी। मगर सांता को पता नहीं चल रहा था कि उसकी मालकिन उसके साथ क्या करने वाली है।

इधर मेरी ज्योति की चूत उसकी नौकरानी के जवान जिस्म को छूकर पानी-पानी हो जाती थी। ज्योति को कुछ समझ नहीं रहा था कि वो सांता को अपने साथ लेस्बियन सेक्स करने के लिए कैसे मनाये। वो उससे इस बारे में बात करने में हिचकिचा रही थी।

एक दिन ज्योति को वह सुनहरा मौका मिल गया जिसके लिए वो बहुत दिनों से तड़प रही थी। उसने अपनी नौकरानी सांता को अकेले में बैठ कर पोर्न सेक्स वीडियो देखते हुए पकड़ लिया। ज्योति को देख कर सांता एकदम से उठ खड़ी हुई और वो फोन को छिपाने लगी। अब उन दोनों के बीच में कुछ इस तरह से बात हुई।

ज्योति- यहां क्या कर रही है तू स्टोर रूम में?
सांता- क क कुछ नहीं मालकिन। मैं तो बस ऐसे ही सफाई कर रही थी।
ज्योति- अच्छा, सफाई कर रही थी? ज़रा मुझे भी दिखा किस चीज़ की सफाई कर रही थी। ज्योति ने सांता पर नकली गुस्सा झाड़ते हुए कहा।

सांता के चेहरे पर पसीना गया था।
वो बोली- मेमसाब, वो मैं बसे ऐसे हीआप शायद कुछ गलत समझ रही हो।
ज्योति- ज्यादा नाटक मत कर सांता मैं देख रही हूं कि आजकल तेरा ध्यान काम में नहीं रहता है।

बहाना बनाते हुए सांता ने कहा- ज्योति मेमसाब, वो मैं सफाई करने के बाद फोन में ऐसे ही मैसेज चेक कर रही थी।
ज्योति- अच्छा, ज़रा मैं भी तो देखूं, किसके मैसेज आते हैं तेरे पास।
ज्योति ने सांता के हाथ से फोन ले लिया और देखने लगी।

ज्योति बोली- ओह, तो ये मैसेज देख रही थी तू?
उसने सांता को उसी का फोन उसके चेहरे के सामने करके ठुकाई की नंगी फोटो दिखाते हुए कहा।
सांता- नहीं, मेमसाब मैं वो
ज्योति- चुपमैं सब जानती हूं कि तू चोरी छिपे ये सब करती है। इसीलिए तेरा ध्यान काम में नहीं रहता है। बहुत गर्मी हो गई तेरी चूत में।

सांता के चेहरे पर पसीना बह रह था। ज्योति ने उसकी घाघरी को उठाते हुए ऊपर कर दिया और उसकी चूत को बैठ कर देखने लगी।
सांता बोली- ये आप क्या कर रही हो मेमसाब?
ज्योति बोली- ज्यादा जुबान मत चला, मैं भी तो देखूं तेरी चूत में कितनी गर्मी हो गई है जो तू इस तरह से काम छोड़ कर ये पोर्न वीडियो और नंगी ठुकाई की तस्वीरें देखती रहती है।

ज्योति ने सांता की घाघरी को ऊपर तक उठा दिया। सांता ने पैंटी से ढकी अपनी चूत को अपने हाथ से छिपाने की कोशिश की। मगर ज्योति ने उसके हाथों को एक तरफ कर दिया। उसने सांता की जांघों को चौड़ी करते हुए उसकी ढकी चूत पर हाथ फेर कर देखा तो मादकता में सांता की आंखें बंद हो गईं।

अब ज्योति के पास यह अच्छा मौका था अपनी हसरत पूरी करने का। ज्योति ने नौकरानी की चूत को बेपर्दा करने के लिए उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी छोटी सी पैंटी को खींच कर निकाल दिया। उसने नौकरानी की चूत को नंगी कर दिया। अब उसने सांता की टांगों को चौड़ी कर दिया और वो अपनी नौकरानी की कुंवारी चूत की फांकों को फैला कर देखने लगी। नौकरानी की चूत से चिपचिपा पदार्थ निकल रहा था। ज्योति उसकी चूत में उंगली करने लगी।

ज्योति बोली- तू तो जवान हो गई है सांता तेरी चूत तो सच में गर्म हो रही है।
उसने सांता की चूत को दो-तीन बार सहलाया तो सांता की टांगों अपने आप ही फैलने लगीं। मगर वो थोड़ा सहमी भी हुई थी इसलिए खुल नहीं पा रही थी। फिर ज्योति ने सांता की चूत को रगड़ना शुरू कर दिया। सांता की टांगें कांपने लगीं और वो वहीं नीचे बैठ गई।

सांता के होंठ आपस में एक दूसरे को काटने लगे। उसकी चूत को उसकी मालकिन ने बहुत गर्म कर दिया था जबकि सांता की चूत पोर्न वीडियो देखने के कारण पहले से उत्तेजित थी। वो अब गर्म होने लगी थी। उसने नौकरानी की घाघरी को खींच कर दिया।

अब सांता रानी नीचे से नंगी हो गई थी। ज्योति ने उसकी टांगों को फैलाया और उसकी चूत में पूरी उंगली फंसाने की कोशिश करने लगी। क्योंकि नौकरानी की कुवांरी चूत अभी चुदी हुई नहीं थी इसलिए उसकी उंगली पूरी नहीं जा रही थी।

नौकरानी की टाइट चूत में उंगली करते हुए उसने उसको पागल कर दिया। सांता अब कसमसाने लगी थी। अब ज्योति ने अपनी नौकरानी के टॉप को भी उतार दिया। उसने नीचे से ब्रा पहनी हुई थी। वो उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके चूचों को दबा कर देखने लगी।

सांता की छोटी-छोटी मगर कसी हुई चूचियों को दबाते हुए ज्योति की चूत भी पानी छोड़ने लगी थी। उसने नौकरानी की ब्रा को उतार दिया। नंगी नौकरानी को इस तरह से तड़पते हुए देख कर अब उसकी मालकिन को अपनी इच्छा पूरी होते हुए दिखाई दे रही थी।

अब उसकी नौकरानी उसके पूरे कंट्रोल में थी। उसने सांता की टांगों को फैला कर उसे जमीन पर ही पीछे धकेल दिया। अब ज्योति ने उसकी चूत पर होंठ रख दिये और उसकी चूत को चाटने लगी। सांता पागल होने लगी। उसकी कुंवारी चूत मचलने लगी।

Girlfriend Lesbian Sex

कुछ देर तक ज्योति ने उसकी चूत को चाटा और फिर उठ गई। सांता ने ज्योति की ओर अचरज भरी निगाह से देखा। वो अपनी चूत को चटवाने का मजा ले रही थी मगर ज्योति ने उसको बीच में ही छोड़ दिया।
ज्योति बोली- क्या हुआ, मजा रहा था?
सांता का चेहरा ज्योति के सवाल पर शर्म से लाल हो गया।

अब उसने दोबारा से उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया। मगर एक मिनट के बाद फिर से हट गई।
सांता बोली- मेमसाब, क्या हुआ, ऐसे क्यूं तड़पा रही हो!
ज्योति बोली- अच्छा, तू अकेले-अकेले मजे ले रही है और मेरा क्या?
सांता बोली- आप जो कहोगी, मैं करने के लिए तैयार हूं।
ज्योति भी यही चाह रही थी। वो अब तेजी से सांता की चूत को चाटने लगी।

ज्योति के हाथ नौकरानी की चूचियों को दबा रहे थे और उसकी जीभ उसकी चूत में मजा दे रही थी। सांता का हाल बेहाल हो रहा था मगर उससे भी ज्यादा बुरी हालत ज्योति की हो रही थी। उसने अब सांता की चूत को तेजी से चाटना शुरू कर दिया।

सांता ने एकदम से ज्योति का मुंह अपनी चूत में दबा लिया और सांता की चूत का पानी निकल गया। सांता का पूरा बदन पसीना-पसीना हो गया था। उसकी सांसें तेजी से चल रही थीं। ऐसा लग रहा था जैसे वो कोई जंग जीत कर आई हो।

अब ज्योति ने अपने कपड़े उतारना शुरू किया। उसने अपनी जीन्स को उतारा और फिर टॉप को। ज्योति अब केवल ब्रा और पैन्टी में थी।
ज्योति बोली- तूने तो मजा ले लिया। अब मजा देने की बारी तेरी है।
सांता उठी और उसने ज्योति की ब्रा को खोल कर उसकी मोटी चूचियों को आजाद कर दिया।

दोस्तो, मेरी ज्योति को अपनी चूचियों को चुसवाना भी बहुत पसंद है। जैसे ही सांता ने उसकी चूचियों को नंगा किया तो ज्योति ने नौकरानी का मुंह अपनी चूचियों पर दबा दिया। सांता अब अपनी मालकिन की चूचियों को पीने लगी।

ज्योति के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं। आह्हसांता, थोड़ा और मुंह में भर ले मेरी चूचियों को थोड़ा जोर से।
सांता ने ज्योति की चूचियों को दबाते हुए जोर से चूसना शुरू कर दिया। उसने उसके निप्पलों को काटना शुरू किया तो ज्योति को चुदास चढ़ने लगी।

मेरी ज्योति के निप्पल तन गये थे। सांता ने अब उसके निप्पलों को अपने हाथ में लेकर जोर से काटा तो ज्योति उछल गई।
वो एकदम से पीछे पड़े तख्त पर बैठ गई और सांता को अपनी टांगों के बीच में बैठा लिया।

सांता ने भी ज्योति का इशारा समझ लिया। ज्योति की गीली चूत ने पैंटी को भी गीला कर दिया था। सांता ने उसकी पैंटी को खींच दिया। ज्योति की रोएंदार चूत नंगी हो गई। वो अपनी चूत को चटवाने के लिए तड़प रही थी।

उसने सांता की गर्दन को पकड़ कर अपनी चूत पर रख दिया और उसके मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी। सांता ने मालकिन की चूत को चाटना शुरू कर दिया।
मेरी ज्योति की चूत पहले से ही इस पल के लिए तड़प रही थी। उसने अपनी चूत पर अपनी नौकरानी के मुंह को दबाना शुरू कर दिया।

सांता को भी उसकी मालकिन की चूत को चाटने में मजा आने लगा। वो तेजी से अपनी मालकिन की चूत को अपनी जीभ से चाटने लगी। उसने फिर अपनी एक उंगली को उसकी चूत में दे दिया और ऊपर से उसको जीभ से भी चाटती रही।

ज्योति अब पागल होने लगी। उम्म्हअहहहययाहवो अपनी चूचियों को अपने हाथ से ही दबाने लगी। सांता उसकी चूत को तेजी से चाटती रही। अब ज्योति ने अपनी टांगों के बीच में सांता की गर्दन दबा लिया। सांता छूटने की कोशिश कर रही थी मगर ज्योति की चूत का पानी अब निकलने ही वाला था।

वो जोर से सांता की गर्दन को अपनी चूत की तरफ धकेलते हुए उसके होंठों पर अपनी चूत को फेंकने लगी। ज्योति के मुंह से बहुत जोर की कामुक सिसकारियां निकल रही थीं।
आह्हआस्सश्शस्सआईआह्ह सांता, जोर से चूस मेरी चूत को, आह्ह बहुत मजा रहा है।

उसने पूरा जोर लगा कर सांता के मुंह को अपनी चूत पर दबा दिया एकाएक ज्योति की चूत से पानी छूटने लगा। सांता ने अपना मुंह वापस खींचना चाहा मगर ज्योति ने ऐसा करने दिया। उसकी चूत का पानी सांता के मुंह में चला गया।

सांता ने अब उसकी चूत के पानी को चाटा और उसकी चूत को चाट-चाट कर साफ कर दिया। ज्योति भी अब जोर से हांफ रही थी। उसने अपनी हसरत पूरी कर ली थी। वो ऐसे ही नंगी वहीं पर लेट गयी।

यह लेस्बियन सेक्स होने के बाद सांता अब उसके पास आकर लेट गयी और ज्योति ने उसको गले से लगा लिया। दोनों के होंठ एक दूसरे के होंठों को चूसने लगी। ज्योति की चूत का पानी अभी भी सांता के मुंह पर लगा हुआ था। वो अपनी ही चूत के पानी को चाटने लगी।

उसके बाद दोनों साथ में नहाने के लिए गई। अब ज्योति और सांता पूरी तरह से खुल चुकी थी। जब भी मौका मिलता था वो दोनों एक दूसरे की चूत में उंगली किया करती थी। अब सांता का मन भी लंड लेने के लिए करने लगा था।

ज्योति ने सांता की चूत को मेरे यानि प्रवीण के लंड से चुदवाया। नौकरानी की कुंवारी चूत चोद कर मुझे भी बहुत मजा आया। अब सांता मेरे लंड की दीवानी हो गई थी। जब भी मैं ज्योति के घर पर जाता था तो सांता मेरे लंड को पकड़ लेती थी।

फिर हम तीनों ने साथ में ठुकाई की। वह कहानी मैं आपको अगली बार बताऊंगा।

इस लेस्बियन सेक्स कहानी के बारे में अपनी प्रतिक्रिया अपने कमेंट के जरिये दें। आप नीचे दी गई मेल आईडी पर मैसेज करके भी अपनी राय दे सकते हैं। मैंने अपनी ईमेल आइडी नीचे दी हुई है।
मैं आशा करता हूं कि आप अपनी प्रतिक्रियाओं के द्वारा मुझे अगली कहानी लिखने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।



 
सेक्स कहानियां वेबसाइट केवल 18 साल से अधिक उम्र के लिए बनाया गया है,इस वेबसाइट में सेक्स की कहानियां शेयर किया जाता है जो केवल 18 साल से अधिक के उम्र के लोगो के लिए बनाया गया है।